Home Loan EMI : एचडीएफसी बैंक ने सस्‍ता किया लोन, जानि‍ए कितनी चुकानी होगी ईएमआई

एचडीएफसी ने होम लोन की ब्‍याज दरों को कम करते हुए 6.70 फीसदी कर दिया है। यह दरें सैलरीड और सेल्‍फ इंप्‍लॉयड दोनों पर लागू होंगी। इसके लिए आपका क्रेडिट स्‍कोर 800 या उससे ज्‍यादा होना अनिवार्य है। साथ ही यह दरें नए आवेदनों पर लागू होंगी।

Home Loan EMI होम लोन लेने से पहले सभी बैंकों की ब्‍याज दरों की तुलना जरूर करनी चाहिए। (Photo By Indian Express Archive)

त्योहारी सीजन की शुरुआत के साथ, देश के कई बैंकों ने सभी के लिए घर को सस्‍ता करने के लिए अपने होम लोन की ब्‍याज दरों में कटौती की है। अब इस फे‍हरिस्‍त में एक नया नाम शामिल हो गया है। देश के सबसे बड़े प्राइवेट लेंडर एचडीएफसी ने भी होम लोन की ब्‍याज दरों को कम कर दिया है। नई ब्‍याज दरें सोमवार से लागू हो चुकी हैं। इस ऑफर के तहत सैलरीड और सेल्‍फ इंप्‍लॉयड को 6.70 फीसदी की ब्‍याज दर से होम लोन मिलेगा। आपको बता दें क‍ि देश में कोटक महिंद्रा बैंक, एसबीआई, बैंक ऑफ बड़ौदा ने अपनी होम लोन की दरों को कम किया है।

800 और उससे ज्‍यादा होना चाहिए क्रेडिट स्‍कोर
एचडीएफसी ने इसके लिए कुछ कंडीशन भी लगाई है। वो ये है कि यह ब्‍याज दर उन्‍हीं लोगों को मिलेगी, जिनका क्रेडि‍ट स्‍कोर 800 और उससे ज्‍यादा अंकों का होगा। खास बात तो ये है कि एचडीएफसी होम लोन ऑफर सभी नए लोन एप्‍लीकेशन पर लागू होगा। फ‍िर चाहे आवेदन करने वाला किसी भी तरह का रोजगार करता हो या फ‍िर कितने ही लोन के लिए अप्‍लाई किया हो। आपको बता दें क‍ि स्‍पेशल इंट्रस्‍ट रेट्स उधारकर्ता के 800 और उससे अधिक के क्रेडिट स्कोर से जुड़ी होती है।

ब्‍याज दरों में कितनी कटौती
इस विशेष ऑफर से पहले सैलरीड कस्‍टमर्स के लिए 75 लाख रुपए से अधिक के लोन और 800 और उससे अधिक के क्रेडिट स्कोर होने पर ब्‍याज दर 7.15 फीसदी थी और सेल्‍फ इंप्‍लायड के लिए ब्‍याज दर 7.30 फीसदी थी। ऐसे में सैलरीड इंप्‍लाई को ताजा रेट्स के अनुसार 0.45 फीसदी और सेल्‍फ इंप्‍लाई को 0.60 फीसदी की राहत दी गई है। एचडीएफसी ने बताया कि यह एक क्लोज-एंडेड योजना है और 31 अक्टूबर 2021 तक वैध होगी।

कहीं ज्‍यादा सस्‍ता हो गया है आवास
रेणु सूद कर्नाड, प्रबंध निदेशक, एचडीएफसी लिमिटेड ने कहा कि आवास आज पहले की तुलना में कहीं अधिक किफायती है। पिछले कुछ वर्षों में, संपत्ति की कीमतें कमोबेश देश भर के प्रमुख इलाकों में समान रही हैं, जबकि आय का स्तर बढ़ गया है। पीएमएवाई के तहत कम ब्याज दरों, सब्सिडी, और टैक्‍स बेनिफ‍िट्स भी मदद की है।

भारत का होम लोन मार्केट
मई में ब्‍लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार क्रेडिट ब्यूरो CRIF हाई मार्क के डाटा से पता चलता है कि:

  • पीएसयू बैंकों ने पिछले 3 वर्षों में होम लोन में वैल्‍यू और वॉल्‍यूम के हिसाब से सबसे बड़ी बाजार हिस्सेदारी 45 फीसदी के करीब बरकरार रखी है।
  • दिसंबर 2020 तक, शीर्ष पांच पीएसयू बैंकों के पास वैल्‍यू के हिसाब से लगभग 30 फीसदी होम लोन थे।
  • प्राइवेट बैंकों के पास वैल्‍यू के हिसाब से 17 फीसदी की अपेक्षाकृत छोटी हिस्सेदारी है।
  • दिसंबर 2020 तक, शीर्ष पांच प्राइवेट बैंकों के पास वैल्‍यू के हिसाब से आउट स्‍टैडिंग लोन 15 फीसदी का है।
  • वैल्‍यू के आधार पर होम फाइनेंस कंपनियों की कुल बाजार हिस्सेदारी लगभग 37 फीसदी है।
  • लगभग 140 होम फाइनेंस कंपनी और एनबीएफसी में से शीर्ष पांच में होम लोन पोर्टफोलियो का 27 फीसदी हिस्सा है।
  • दो कंपनियां मूल्य के हिसाब से एचएफसी बाजार की 61 फीसदी और वॉल्‍यूम के हिसाब से 49 फीसदी हिस्सेदारी रखती हैं।