IND vs BAN: 10 खिलाड़ियों के साथ उतरी बांग्लादेश से नहीं जीत पाई भारतीय टीम, पेले से बस एक गोल पीछे हैं सुनील छेत्री

भारतीय स्टार फुटबॉलर सुनील छेत्री के 76वें अंतरराष्ट्रीय गोल के बावजूद सैफ कप में भारत को बांग्लादेश के खिलाफ ड्रॉ से संतुष्ट होना पड़ा। छेत्री अब इंटरनेशनल गोल के मामले में पेले से बस एक कदम पीछे हैं। दिग्गज ब्रॉजीलियन फुटबॉलर पेले के नाम 77 इंटरनेशनल गोल दर्ज हैं।

sunil-chhetri-indian-footballer-is-one-international-goal-behind-pele-india-played-draw-with-bangladesh-in-saff-cup-2021-ind-vs-ban सुनील छेत्री (बाएं नीली जर्सी) ने किया 76वां इंटरनेशल गोल जो कि पेले (दाएं) के 77 गोल से बस एक कदम दूर हैं (सोर्स- ट्विटर/indian express)

स्टार फुटबॉलर सुनील छेत्री के 76वें अंतरराष्ट्रीय गोल के बाद भारतीय फुटबॉल टीम ने 10 खिलाड़ियों के साथ खेल रहे बांग्लादेश को सोमवार को सैफ चैम्पियनशिप के शुरुआती मैच में वापसी का मौका दे दिया। शुरुआत में 1-0 की बढ़त लेने के बावजूद भारत इस मैच में जीत नहीं पाया और मैच 1-1 की बराबरी पर छूटा।

इस मैच में भारत की तरफ से एकमात्र गोल कप्तान सुनील छेत्री ने किया। उन्होंने अपने गोल से 27वें मिनट में ही भारत को बढ़त दिला दी थी। ये उनका 76वां अंतरराष्ट्रीय गोल था।

पेले से एक गोल पीछे हैं सुनील छेत्री

छेत्री अब ब्राजील के दिग्गज फुटबॉलर पेले (92 मैचों में 77 गोल) से एक गोल पीछे हैं। वह सक्रिय फुटबॉल खिलाड़ियों की सूची में क्रिस्टियानो रोनाल्डो (111), लियोनेल मेस्सी (79) और इराक के अली मबखौत (77) के बाद चौथे स्थान पर हैं।

आपको बता दें अपना 121वां मैच खेल रहे 37 वर्षीय छेत्री ने 27वें मिनट में गोल डाग कर भारत को बढ़त दिला दी थी। भारतीय टीम पहले हाफ में बार-बार गेंद से नियंत्रण खोने के बावजूद बेहतर टीम थी।

मैच के 54वें मिनट में बांग्लादेश के खिलाड़ी विश्वनाथ घोष को लिस्टन कोलाको के खिलाफ फाउल करने पर रेड कार्ड दिखा दिया गया, जिसके बाद टीम को 10 खिलाड़ियों के साथ खेलने के लिए मजबूर होना पड़ा।

कोच इगोर स्टिमक की टीम हालांकि बांग्लादेश को जवाबी हमला करने से रोकने में नाकाम रही। मैच के 74 वें मिनट में यासिर अराफात के गोल से बांग्लादेश ने स्कोर बराबर कर लिया।

बांग्लादेश हमेशा से भारत के लिए एक कठिन प्रतिद्वंद्वी रहा है। विश्व कप 2022 क्वालीफायर के तहत कोलकाता में खेले गये पहले चरण के मुकाबले को भारतीय टीम ने आखिरी क्षणों में बराबरी का गोल किया किया था तो वही दूसरे चरण में टीम ने 2-0 से जीत दर्ज की थी।

भारतीय टीम ने मैच की शुरुआत से ही आक्रामक रुख अपनाया था लेकिन बांग्लादेश भी जवाबी हमले करने में पीछे नहीं था। रक्षापंक्ति में चिंगलेनसना सिंह की सतर्कता से उनका सामना शुरुआत में बढ़त लेने का मौका नहीं दिया। बांग्लादेश को इस दौरान कई कॉर्नर भी मिले लेकिन उदंता सिंह ने ने शानदार तरीके से इनका बचाव किया।

मनवीर सिंह ने मैच के 24वें मिनट में गोल का मौका बनाया लेकिन यह प्रयास कामयाब नहीं हुआ। छेत्री ने हालांकि इसके तीन मिनट बाद ही टीम को बढ़त दिला दी। प्रीतम कोटाल ने गेंद उदंता को दी जिन्होंने दायी ओर से छेत्री को शानदार पास दिया और भारतीय कप्तान को गेंद को गोल पोस्ट में मारने में कोई परेशानी नहीं हुई।

लिस्टन कोलाको 36 वें मिनट में मौका बनाने के बाद भारत की बढ़त का बड़ा करने से चूक गये तो इसके तीन मिनट बाद, छेत्री ने बायें पैर से एक और शक्तिशाली प्रहार किया, लेकिन बांग्लादेश के गोलकीपर अनिसुर रहमान ने इसका शानदार बचाव किया।

भारतीय गोलकीपर गुरप्रीत सिंह संधू ने मैच के 40वें मिनट में बिप्लो अहमद के ताकतवर किक को रोक कर टीम की बढ़त को बनाये रखने में योगदान दिया।

World Championship: भारतीय शूटर ने पेरू में बनाया विश्व रिकॉड, 14 साल की भारतीय ने भी जीता सोना

मध्यांतर के बाद स्टिमक ने अनिरुद्ध थापा की जगह ब्रैंडन फर्नांडीस को मैदान में उतारा। भारतीय टीम को 54वें मिनट के बाद एक संख्यात्मक लाभ भी मिला जब कोलाको से भिड़ने के कारण बिश्वनाथ घोष रेफरी ने रेड कार्ड दिखा दिया।

रहमान ने 61वें मिनट में मनवीर और उदांता के प्रयास को दो बार विफल किया। स्टिमक ने इसके बाद कोलाको की जगह लालेंगमाविया और उदंता की जगह रहीम अली को मैदान में उतारा। विश्व कप क्वालीफायर 2022 के बाद नये कोच की देख रेख में खेल रहे बांग्लादेश ने मैदान पर एक खिलाड़ी कम होने के बाद भी 74वें मिनट में बराबरी का गोल दाग दिया।

कॉर्नर से लगाई गई किक को यासिर अराफात ने डाइव लगाकर हेडर की मदद से गोल में बदल दिया। इसके बाद खेल 1-1 की बराबरी पर पहुंच गया और अंत में ये मुकाबला ड्रॉ घोषित किया गया। अब भारत गुरुवार को अपने दूसरे राउंड रोबिन लीग मैच में श्रीलंका से भिड़ेगा।