Ind vs Eng: जो रूट के समर्थन में उतरे माइकल वॉन, इंग्लैंड के लिए हार के लिए इन खिलाड़ियों को भी ठहराया जिम्मेदार

साल 2005 के एशेज विजेता कप्तान माइकल वॉन ने कहा है कि सोमवार को भारत के खिलाफ टेस्ट में शर्मनाक हार के बाद इंग्लैंड के मौजूदा कप्तान जो रूट बहुत निराश होंगे।

india vs england 2nd test michael vaughan joe root माइकल वॉन ने इंग्लैंड के कप्तान के रूप में जो रूट के भविष्य को लेकर चिंता जाहिर की है। (सोर्स- इंस्टाग्राम/माइकल वॉन/जो रूट)

माइकल वॉन ने इंग्लैंड के कप्तान के रूप में जो रूट के भविष्य को लेकर चिंता जाहिर की है। भारत से हार के बाद 30 वर्षीय रूट ने स्वीकार किया था कि लॉर्ड्स में आखिरी दिन उनकी टीम की ओर से गलतियां हुईं। माइकल वॉन ने 2003 से 2008 तक इंग्लैंड की टेस्ट टीम की कप्तानी की है। उनकी अगुआई में 2005 में इंग्लैंड ने एशेज सीरीज भी जीती थी।

उन्होंने टेलीग्राफ के लिए अपने कॉलम में लिखा, ‘मैं जो रूट को लेकर चिंतित हूं। माइकल वॉन ने लिखा, वह सोच रहा होगा यह क्या समय है? अगर वह सिर्फ 20 टेस्ट के लिए कप्तान होते तो इससे वापसी करना आसान होता, लेकिन जब आपके 54वें मैच में ऐसा होता है तो यह बहुत कठिन होता है।’ उन्होंने लिखा, ‘वह थका हुआ होगा। वह जानता है कि उसने त्रुटियां की हैं। वह खुद पर संदेह कर रहा होगा।’

उन्होंने कहा, ‘मुझे वास्तव में चिंता इस बात की है कि हमारे पास एक ऐसा कप्तान है जिसने स्वीकार किया कि वह गलत निर्णय ले रहा था, लेकिन टीम के सीनियर्स ने भी उन्हें उनका विचार बदलने के लिए कुछ नहीं किया।’ उन्होंने कहा, ‘बतौर कप्तान मैं चाहता था कि लोग मेरे पास आएं और कहें कि कप्तान आप गलत कर रहे हैं। तुम क्या कर रहे हो? वे (टीम के सीनियर्स साथी) कहां थे?’

वॉन ने आगे कहा कि जिस रफ्तार से मैदान में इंग्लैंड ने हथियार डाल दिए, वह चिंता का विषय है। उन्होंने कहा, ‘जब आप देखते हैं कि एक टीम अपनी रणनीति को पूरी तरह से गलत कर रही है और बल्लेबाज दबाव में टूट गए हैं तो यह आपको बताता है कि बड़ी समस्याएं हैं।’

माइकल वॉन ने अंततः अपने साथी यॉर्कशायरमैन का समर्थन किया। उन्होंने दलील दी कि इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) की शासन व्यवस्था ने उन्हें इस हद तक निराश कर दिया होगा कि उन्हें यह उम्मीद ही नहीं बची होगी कि इंग्लैंड की यह टीम सबसे अधिक प्रतिस्पर्धी टेस्ट सीरीज जीत सकती है।

माइकल वॉन ने कहा, ‘जो रूट को मेरी सलाह कि वह वहीं पर टिके रहें। मैं यह नहीं कह रहा हूं कि यह और आसान होने वाला है, लेकिन अब उनके पास खोने के लिए कुछ नहीं है, क्योंकि इंग्लैंड का एक भी प्रशंसक नहीं है जो इस स्थिति से टीम को भारत से हारने की उम्मीद कर रहा होगा और ऑस्ट्रेलिया में जीत।’

वॉन ने लॉर्ड्स टेस्ट को लेकर ट्वीट भी किया। उन्होंने लिखा, ‘क्रिकेट का अद्भुत खेल। भारत ने आज दिखाया कि वे इंग्लैंड से इतने बेहतर क्यों हैं। जीत के लिए उनका विश्वास अपार था।’ माइकल वॉन से पहले इस खास जीत पर सचिन तेंदुलकर, वसीम जाफर, सौरव गांगुली, युवराज सिंह, वीरेंद्र सहवाग जैसे दिग्गज खिलाड़ियों ने भी सोशल मीडिया पर भारतीय टीम की जमकर तारीफ की थी।