India-China Dispute: चीनी कब्जे में अरुणाचल का लड़का- पीएलए ने माना, बीजेपी सांसद ने लगाया था अगवा करने का आरोप

सूत्रों के मुताबिक चीनी सेना तस्वीरों के जरिए युवक की पहचान की पुष्टि करेगी और फिर उसे वापस भेजने की प्रक्रिया शुरू करेगी। जिसमें करीब एक सप्ताह का समय लग सकता है।

Miram Taron,Arunachal Pradesh लापता 17 वर्षीय भारतीय नागरिक मीराम तारौन(फोटो सोर्स: ट्विटर/@TapirGao)।

अरुणाचल प्रदेश के सीमावर्ती गांव से 17 वर्षीय लड़के के एक जंगल में लापता होने को लेकर उसके परिवार ने आरोप लगाया था कि उसे चीन आर्मी ने अगवा किया है। वहीं लापता होने के पांच दिन बाद चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने भारतीय सेना से इस बात की पुष्टि की है कि उन्हें एक लड़का मिला है और उसकी पहचान की पुष्टि की जा रही है।

भाजपा सांसद का आरोप: बता दें कि इसके पहले अरुणाचल प्रदेश-पूर्व से भाजपा सांसद तापिर गाओ ने आरोप लगाया था कि चीनी सेना ने भारतीय सीमा में घुसकर एक 17 वर्षीय भारतीय नागरिक मीराम तारौन को अगवा कर लिया है। अब सूत्रों का कहना है कि पीएलए फोटो के जरिए शख्स की पहचान कर उसे वापस भेजने की प्रक्रिया शुरू करेगा। इस प्रक्रिया में लगभग एक सप्ताह लग सकता है।

जानकारी के मुताबिक भारतीय सेना ने 18 जनवरी को लापता हुए मिराम टैरोन का पता लगाने और प्रोटोकॉल के अनुसार उसे वापस करने के लिए पीएलए से संपर्क साधा था। जिसके जवाब में पीएलए ने बताया कि उसे 21 जनवरी को एक लड़का मिला है, जिसकी पहचान की जा रही है।

बता दें कि भाजपा सांसद तापिर गाओ ने एक ट्वीट में कहा था कि मीराम तारौन का पीएलए द्वारा अपहरण किया गया है। वहीं तारौन के परिवार ने भी चीन पर यह आरोप लगाया था।

भाजपा सांसद ने अपने ट्वीट में लिखा था कि 18 जनवरी को भारतीय सीमा में घुसकर चीनी सेना ने जिडो गांव के 17 वर्षीय युवक को बंधक बना लिया है। यह गांव अरुणाचल प्रदेश के अपर सियांग जिले में सियूंगला एरिया (बिशिंग गांव) के तहत लुंगता जोर एरिया में स्थित है जहां करीब चार साल पहले 2018 में चीन भारत के भीतर 3-4 किमी सड़क का निर्माण किया था।

भाजपा सांसद ने सरकारी एजेंसियों से इस मामले में दखल देने की अपील भी की। उन्होंने अपने ट्वीट में पीएम मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह, अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू, राज्य के उपमुख्यमंत्री चोअना मिएन और भारतीय सेना को टैग किया है।

राहुल गांधी ने साधा पीएम मोदी पर निशाना: इस मामले को लेकर सियासी सरगर्मी भी तेज दिखी। कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने पीएम मोदी की चुप्पी पर निशाना साधा है। उन्होंने लिखा, “गणतंत्र दिवस से कुछ दिन पहले भारत के एक भाग्य विधाता का चीन ने अपहरण किया है- हम मीराम तारौन के परिवार के साथ हैं और उम्मीद नहीं छोड़ेंगे, हार नहीं मानेंगे। PM की बुज़दिल चुप्पी ही उनका बयान है- उन्हें फ़र्क़ नहीं पड़ता!”