India tour of England: बीसीसीआई ने खिलाड़ियों को दी चेतावनी, इस कारण इंग्लैंड दौरे से किए जा सकते हैं बाहर

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के दौरान बायो-बबल में कोरोना विस्फोट से बोर्ड काफी सचेत हो गया है। खिलाड़ियों को कह दिया गया है कि उनके परिवार के लोगों का भी RT-PCR टेस्ट होगा।

BCCI, Covid19, coronavirus

भारतीय क्रिकेट टीम अगले महीने (जून 2021) में इंग्लैंड के दौरे पर जाएगी। वहां उसे न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल और इंग्लैंड के खिलाफ 5 टेस्ट मैचों की सीरीज खेलनी है। दौरे पर जाने से पहले भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने इंग्लैंड के लिए चुने गए खिलाड़ियों को सख्त लहजे में कहा है कि अगर वे इंग्लैंड जाने से पहले मुंबई आने पर कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए तो खुद को दौरे से बाहर समझें।

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक, टीम इंडिया के फिजियो योगेश परमार ने खिलाड़ियों को सलाह दी है कि वे मुंबई आने तक खुद को आइसोलेट रखने का प्रयास करें। इंग्लैंड जाने वाले खिलाड़ी, सपोर्ट स्टाफ और फैमिली के लोगों का मुंबई में पहले ही दिन RT-PCR टेस्ट होगा। दरअसल, खिलाड़ी और उनके परिवार के लोग देश के अलग-अलग हिस्सों से आएंगे। इसलिए बीसीसीआई एक सुरक्षित बायो-बबल बनाना चाहता है। भारतीय टीम मुंबई से 2 जून को इंग्लैंड के लिए रवाना होने वाली है।

बीसीसीआई के एक सूत्र ने बताया, ‘‘खिलाड़ियों को यह सूचना दे दी गई है कि अगर वे मुंबई आने पर कोरोना पॉजिटिव पाए गए तो खुद इंग्लैंड दौरे से बाहर समझें। बीसीसीआई किसी भी खिलाड़ी के लिए अगल से चार्टर फ्लाइट की व्यवस्था नहीं करेगा।’’ इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के दौरान बायो-बबल में कोरोना विस्फोट से बोर्ड काफी सचेत हो गया है। खिलाड़ियों को कह दिया गया है कि उनके परिवार के लोगों का भी RT-PCR टेस्ट होगा।

इसके अलावा बोर्ड ने टीम के सदस्यों से यह भी कहा कि वे Covishield वैक्सीन का पहला डोज ले लें। बीसीसीआई इंग्लैंड में इसका दूसरा डोज उपलब्ध करवाएगा। इंग्लैंड में AstraZeneca वैक्सीन उपलब्ध होगा। वह कोवीशील्ड जैसा है। बोर्ड के सूत्र ने कहा, ‘‘दौरे पर जाने से पहले खिलाड़ियों, सहयोगी स्टाफ और परिवारों के दो निगेटिव रिपोर्ट जरूरी होंगे। खिलाड़ियों को मुंबई पहुंचने के लिए हवाई या कार से यात्रा करने का विकल्प भी दिया गया है।’’