Indian Railways: बुजुर्गों के लिए चाहते हैं कन्फर्म लोअर बर्थ? IRCTC ने बताया ऐसे होगा संभव

रेलवे ने कोरोनोवायरस महामारी के मद्देनजर गैर-जरूरी यात्राओं जैसे वरिष्ठ नागरिकों सहित कई श्रेणियों के लोगों के लिए रियायती टिकटों को निलंबित कर दिया था। ताकि महामारी के खतरे से जान का जोखिम न हो। रेलवे ने वरिष्ठ नागरिकों के लिए रियायतें वापस ले ली हैं।

वरिष्ठ नागरिकों के लिए कन्फर्म लोअर बर्थ चाहते हैं? आईआरसीटीसी ने बताया कैसे होगा संभव (File Photo)

लंबी दूरी के लिए भारतीय रेलवे से सफर करना सबसे सुरक्षित माना जाता है। रेलवे से हर दिन भारी संख्‍या में लोग सफर करते हैं। जिसके कारण टिकट बुकिंग को लेकर भी समस्‍या रहती है। कई लोगों को अपनी मंनपसंद सीट नहीं मिल पाती। खासकर वरिष्‍ठ नागरिकों को जिन्‍हें लोवर बर्थ की ज्‍यादा आवश्‍यता होती है। एक महीने पहले के सफर के पहले ही टिकट बुकिंग के समय भी मुश्किल से लोवर बर्थ मिल पाती है। इन्‍हीं बातों को लेकर IRCTC ने जानकारी दी कि कैसे आप लोवर बर्थ वरिष्‍ठ नागरिकों के लिए बुक करा सकते हैं और इसके लिए नियम क्‍या कहता है?

कुछ दिनों पहले ही एक ट्विटर यूजर ने भारतीय रेलवे को ट्वीट करते हुए कहा था कि आईआरसीटीसी को अपनी प्रक्रिया में सुधार करना चाहिए। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव को टैग करते हुए यात्री ने लिखा है, “सीट आवंटन के लिए आप क्या तर्क चलाते हैं, मैंने निचली बर्थ की वरीयता के साथ 3 वरिष्ठ नागरिकों के लिए टिकट बुक किया था, 102 बर्थ उपलब्ध हैं, फिर भी आवंटित बर्थ मिडिल, अपर और साइड हैं। ऐसा क्‍यों है? इसे सही करने की आवश्यकता है।”

यह भी पढ़ें: 10,990 रुपये की छूट पर मिल रहा Apple iPhone SE,पर खरीदिए iPhone 12 Mini यह होगा बेहतर

जिसके बाद जितेंद्र एस नाम के यूजर को जवाब देते हुए, आईआरसीटीसी ने ट्वीट किया, ” लोअर बर्थ / सीनियर सिटीजन कोटा बर्थ केवल 60 वर्ष और उससे अधिक है, निचली बर्थ 45 वर्ष और उससे अधिक उम्र की महिलाओं के लिए निर्धारित की गई है, जब वह अकेली या दो यात्री हैं।” आईआरसीटीसी ने आगे कहा कि यदि दो से अधिक वरिष्ठ नागरिक हैं या एक वरिष्ठ नागरिक है और दूसरा वरिष्ठ नागरिक नहीं है, तो सिस्टम इस पर विचार नहीं करेगा और फिर उसी आधार पर टिकटआवंटन किया जाएगा।”

यह भी पढ़ें: फेस्टिवल सीजन के दौरान Samsung Galaxy Tablets पर मिल रही भारी छूट, जानें किसकी कितनी है कीमत
बता दें कि पिछले साल, रेलवे ने कोरोनोवायरस महामारी के मद्देनजर गैर-जरूरी यात्राओं जैसे वरिष्ठ नागरिकों सहित कई श्रेणियों के लोगों के लिए रियायती टिकटों को निलंबित कर दिया था। ताकि महामारी के खतरे से जान का जोखिम न हो। रेलवे ने वरिष्ठ नागरिकों के लिए रियायतें वापस ले ली हैं क्योंकि उस श्रेणी में COVID-19 के कारण वायरस और मृत्यु दर फैलने का जोखिम सबसे अधिक है।