IPL 2021: रविचंद्रन अश्विन को लेकर भिड़े कंगारू दिग्गज, लेकिन ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कोच डिलीट किया ट्वीट, जानिए क्या है मामला

हालांकि, बाद में ट्वीट का पता नहीं चल सका, क्योंकि माना जा रहा है कि गिलेस्पी ने इसे डिलीट कर दिया था। हालांकि, ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ने मामले पर अपना पक्ष रखते हुए कुछ ट्वीट्स का जवाब दिया।

Ravichandran Ashwin Shane Warne Jason Gillespie IPL 2021 KKR vs DC Eoin Morgan आईपीएल 2021 में रविचंद्रन अश्विन और इयोन मोर्गन के बीच हुए विवाद को लेकर ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ने हमवतन साथी शेन वॉर्न पर पलटवार किया है। (सोर्स- ट्विटर)

रविचंद्रन अश्विन को लेकर ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज जेसन गिलेस्पी और शेन वार्न में ट्वीट पर भिड़ंत हो गई। ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कोच जेसन गिलेस्पी अपने पूर्व साथी शेन वार्न की इस बात से सहमत नहीं थे कि भारतीय स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (Ravichandran Ashwin) ने इस सप्ताह के शुरू में आईपीएल 2021 में कोलकाता नाइटराइडर्स और दिल्ली कैपिटल्स के बीच खेले गए मैच के दौरान खेल भावना नहीं दिखाई।

शेन वार्न ने अश्विन-इयोन मॉर्गन विवाद पर हाल ही में टिप्पणी की थी। ऑस्ट्रेलिया के महान लेग स्पिनर ने ट्वीट कर कहा था, ‘दुनिया को इस विषय पर और अश्विन को लेकर बंटना नहीं चाहिए। यह बहुत आसान है… यह शर्मनाक है और ऐसा कभी नहीं होना चाहिए। अश्विन को दोबारा ऐसा इंसान बनने की क्या जरुरत पड़ी? मुझे लगता है कि इयोन को अश्विन को गलत ठहराने का अधिकार था।’

अब शेन वॉर्न के ट्वीट पर जेसन गिलेस्पी ने पलटवार किया। गिलेस्‍पी ने वॉर्न के ट्वीट की पहली कुछ पंक्तिायों का इस्तेमाल किया। फिर अपनी बात लिखी। ऑस्‍ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ने लिखा, ‘दुनिया को इस विषय पर और अश्विन को लेकर बंटना नहीं चाहिए। यह बहुत आसान है… यह शर्मनाक है और ऐसा कभी नहीं होना चाहिए।’ गिलेस्पी ने आगे लिखा, ‘हम उस खिलाड़ी को दोष क्यों देते हैं जो खेल के नियमों के भीतर खेलता है? मेरा मानना है कि खिलाड़ियों को एमसीसी (मेरिलबोन क्रिकेट क्लब) द्वारा निर्धारित खेल के नियमों के भीतर खेलने का पूरा अधिकार है।’

गंभीर ने दिया अश्विन का साथ, कहा- फॉलोअर्स बढ़ाने के लिए बीच में कूद रहे लोग; पठान ने दिलाई 2019 वर्ल्ड कप की याद

हालांकि, बाद में ट्वीट का पता नहीं चल सका, क्योंकि माना जा रहा है कि गिलेस्पी ने इसे डिलीट कर दिया था। हालांकि, ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज गेंदबाज ने मामले पर अपना पक्ष रखते हुए कुछ ट्वीट्स का जवाब दिया। एक जवाब में उन्होंने लिखा था, ‘मैं जिस खेल का सम्मान करता हूं, उस पर वॉर्न की बहुत अच्छी राय है। मुझे यकीन नहीं है कि वह या मैं, हम कुछ चीजों पर सहमत हैं या असहमत हैं। हमारा साथ हमेशा बहुत बढ़िया रहा है और हम इसे जारी रखेंगे।’

जेसन गिलेस्पी के ट्वीट का स्क्रीनशॉट। अब यह उनके ट्विटर हैंडल पर नहीं दिख रहा है।

बता दें उस मैच में खिलाड़ियों के मैदान से बाहर जाने के बाद भी मामला खत्म नहीं हुआ था। मैच के बाद मॉर्गन ने ट्वीट किया, ‘मैं जो देख रहा हूं उस पर विश्वास नहीं कर सकता। आईपीएल आने वाले छोटे बच्चों के लिए भयानक उदाहरण है। मुझे लगता है कि समय आने पर अश्विन को इसका पछतावा होगा।’

इसके बाद अश्विन ने भी सिलसिलेवार ट्वीट कर दुनिया के सामने अपनी बात रखी थी। उन्होंने यह भी कहा था कि इयोन मॉर्गन और टिम साउदी को दूसरों को नैतिकता का पाठ पढ़ाने का हक नहीं है। अश्विन ने लिखा था, ‘मैं फील्डर के थ्रो करने पर ही दौड़ पड़ा था और मुझे यह नहीं पता था कि गेंद ऋषभ के शरीर पर लगी है। अगर मुझे यह दिख भी जाए तो क्या मैं भागूंगा? जी हां और यह मेरा अधिकार है। क्या मॉर्गन का मुझे कलंक बुलाकर अपमान करना उचित था? बिलकुल नहीं।’

अश्विन ने ट्वीट में लिखा था, ‘मैंने लड़ाई नहीं की, न ही किसी का अपमान किया, बल्कि अपना बचाव किया। मेरे शिक्षकों और माता-पिता ने मुझे यही सिखाया है। आप भी अपने बच्चों को खुद के लिए खड़े होना सिखाइए। मॉर्गन और साउदी अपने अनुसार नियम बनाते हैं कि क्या सही है और क्या गलत। उन्हें दूसरों को नैतिकता का पाठ पढ़ाने और अपमानजनक शब्दों के इस्तेमाल करने का हक नहीं है।’