IPL 2021 Auction: हरभजन सिंह और केदार जाधव समेत 5 भारतीय दिग्गजों का बिकना मुश्किल

भारतीय टेस्ट टीम के अहम सदस्य पुजारा पिछली बार आईपीएल में 2014 में किंग्स इलेवन पंजाब की ओर से खेले थे। उसके बाद से उन्हें फ्रैंचाइजियों ने लगातार नजरअंदाज किया है। पुजारा ने इस साल खुद को 50 लाख के बेस प्राइस में रखा है।

IPL 2021 Auction, IPL 2021, vivo ipl auction, vivo ipl auction 2021

आईपीएल 2021 की नीलामी गुरुवार (18 फरवरी) को चेन्नई में होने वाली है। 164 भारतीय खिलाड़ी, 125 विदेशी खिलाड़ी और एसोसिएट देशों के 3 खिलाड़ी नीलामी का हिस्सा होंगे। इनमें से 10 खिलाड़ियों ने खुद को 2 करोड़ रुपए के बेस प्राइस में रखा है। 1.5 करोड़ की बेस प्राइस में 22 खिलाड़ी हैं। वहीं, 1 करोड़ की बेस प्राइस में 11 खिलाड़ी हैं। 8 टीमों को मिलाकर कुल 61 जगह खाली है। 1,097 खिलाड़ियों ने रजिस्ट्रेशन कराया था। उनमें से 292 खिलाड़ियों को शॉर्ट लिस्ट किया गया। हम आपको यहां उन भारतीय दिग्गज खिलाड़ियों के बारे में बता रहे हैं जिनका बिकना मुश्किल है।

केदार जाधव: जाधव का प्रदर्शन पिछले सीजन में निराशाजनक रहा है। उन्होंने 8 मैच में 62 रन ही बना थे। इस दौरान उनका उच्चतम स्कोर 26 रन ही था। आईपीएल 2019 में भी उन्होंने 14 मैच में सिर्फ 162 रन बनाए थे। खराब फॉर्म के अलावा जाधव के खिलाफ इनका बेस प्राइस भी जा सकता है। उन्होंने खुद को 2 करोड़ के बेस प्राइस में रखा है। ऐसे में कम ही उम्मीद है कि कोई टीम इन पर बोली लगाए।

चेतेश्वर पुजारा: भारतीय टेस्ट टीम के अहम सदस्य पुजारा पिछली बार आईपीएल में 2014 में किंग्स इलेवन पंजाब की ओर से खेले थे। उसके बाद से उन्हें फ्रैंचाइजियों ने लगातार नजरअंदाज किया है। पुजारा ने इस साल खुद को 50 लाख के बेस प्राइस में रखा है। पुजारा टेस्ट के स्पेशलिस्ट हैं इसी कारण टीमें उन पर बोली नहीं लगाती हैं। इस बार भी उनका बिकना मुश्किल लग रहा है।

हरभजन सिंह: चेन्नई सुपरकिंग्स ने इस साल हरभजन सिंह को रिलीज कर दिया। भज्जी पिछले साल निजी कारणों से नहीं खेले थे। टीम पॉइंट टेबल में 7वें स्थान पर रही थी। 2 करोड़ की बेस प्राइस में केदार के अलावा दूसरे भारतीय हरभजन ही हैं। लंबे समय पेशेवर क्रिकेट से दूर भज्जी पर कोई टीम दांव लगाए, ऐसा मुश्किल है।

उमेश यादव: टीम इंडिया के इस शानदार तेज गेंदबाज के पास जबदस्त पेस है। हालांकि, वे इस पेस से विकेट नहीं निकाल पाते हैं। पिछले सीजन में वे फेल रहे थे। उन्हें दो मैच में सिर्फ दो सफलता मिली थी। उन्होंने नीलामी में खुद को 1 करोड़ की बेस प्राइस में रखा है। इस लिस्ट में कई तेज गेंदबाज हैं। वे लंबे समय सीमित ओवरों में नहीं खेले हैं। ऐसे में उनका बिकना भी मुश्किल नजर आ रहा है।

पीयूष चावला: कोलकाता नाइटराइडर्स के लिए पीयूष चावला लंबे समय तक मुख्य स्पिनर रहे हैं। पिछले सीजन में वो चेन्नई सुपरकिंग्स की ओर से खेले थे। 7 मैच में उन्हें 6 सफलता मिली है। पीयूष को इस बार टीम ने रिलीज कर दिया। खराब फॉर्म और बढ़ती उम्र के कारण उनका बिकना मुश्किल नजर आ रहा है।