JP नड्डा पर कांग्रेस नेता ने साधा निशाना, बोलीं- राष्ट्र ध्वज का अपमान हुआ, अध्यक्ष मांगें माफ़ी

कल्याण सिंह के पार्थिव शरीर पर रखे गए राष्ट्रीय ध्वज के ऊपर बीजेपी ने अपना झंडा रख दिया। कांग्रेस की प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने अब बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा पर निशान साधते हुए कहा है कि उन पर किस तरह की कार्रवाई होगी।

kalyan singh, jp nadda, narendra modi राष्ट्रीय ध्वज के ऊपर बीजेपी के झंडे की तस्वीरें वायरल हैं (Photo-File/Social Media)

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता कल्याण सिंह के अंतिम दर्शन से जुड़ी तस्वीरों पर विवाद थमता नहीं दिख रहा। विवाद इस बात पर शुरू हुआ था कि कल्याण सिंह के पार्थिव शरीर पर रखे गए राष्ट्रीय ध्वज के ऊपर बीजेपी ने अपना झंडा रख दिया। जिस वक्त ये हो रहा था प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वयं कल्याण सिंह के पार्थिव शरीर के पास मौजूद थे। इस बात को लेकर विपक्षी दल बीजेपी पर अभी भी हमले कर रहे हैं। कांग्रेस की प्रवक्ता सुप्रिया श्रीनेत ने अब बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा पर निशाना साधते हुए कहा है कि उन पर किस तरह की कार्रवाई होगी।

आज तक के डिबेट शो, ‘दंगल’ में बीजेपी प्रवक्ता गौरव भाटिया के समक्ष बोलते हुए सुप्रिया वे ने कहा, ‘जिन लोगों ने हमारे तिरंगे का तिरस्कार किया और भाजपा का झंडा उस पर गाड़ दिया, उसके अध्यक्ष के खिलाफ़ क्या कार्रवाई होगी? और ये तो मोदी जी की उपस्थिति में हुआ। फोटो से काट देने बात थोड़ी बन जाएगी।’

वो आगे बोलीं, ‘आपने तिरंगे का तिरस्कार किया है, उसके लिए देश से माफ़ी मांगिए।’ उनके इस टिप्पणी पर गौरव भाटिया कोई स्पष्ट जवाब न देते हुए व्यक्तिगत टिप्पणी करने लगे जिस पर सुप्रिया श्रीनेत ने फिर कहा, ‘आपके राष्ट्रीय अध्यक्ष जाकर झंडे का तिरस्कार करते हैं, आपके प्रधानमंत्री वहीं मौजूद होते हैं, आपको शर्म नहीं आती।’

बता दें, 21 अगस्त को कल्याण सिंह का निधन हो गया था जिसके बाद उनके पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए लखनऊ स्थित उनके आवास पर रखा गया था। कल्याण सिंह के पार्थिव शरीर को तिरंगे में लपेटा गया था। इसके बाद तिरंगे के ऊपर बीजेपी का झंडा रख दिया गया जहां से विवाद की शुरुआत हो गई।

कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने इस पर अपनी टिप्पणी देते हुए ट्वीट किया, ‘एक आदमी ने राष्ट्र गान गाते समय सीने पर हाथ रखने के लिए मुझ पर केस दर्ज किया और 4 सालों तक लड़ाई की थी। मुझे लगता है कि अब देश को बताना चाहिए कि सत्ताधारी पार्टी इस बेइज्जती के बारे में क्या सोचती है।’

टीएमसी सांसद सुखेंदु शेखर रॉय ने ट्वीट किया, ‘राष्ट्र ध्वज का अपमान करना क्या मातृभूमि के सम्मान का नया तरीका है?’ वहीं इस पूरे मामले को लेकर एक तरफ ये भी कहा जा रहा है कि कल्याण सिंह की आखिरी इच्छा थी कि जब उनका निधन हो तो उनके शरीर पर बीजेपी का झंडा लगाया जाए।