Ladli Scheme: यहां बेटियों को हर साल 5000 रुपए की मदद देती है सरकार, जानें- कैसे और कौन ले सकता है लाभ?

हरियाणा के अलावा दिल्ली, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश आदि सूबों में राज्य सरकारें ऐसी योजनाएं चलाती हैं।

haryana ladli scheme, girl child, utility news पार्क में सेल्फी लेती कुछ लड़कियां। तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटोः रोहित जैन पारस)

Haryana Ladli Scheme: हरियाणा में बेटियों के लिए लाडली योजना (Ladli Social Security Allowance Scheme) चलाई जाती है। इसके तहत लड़की और मां के नाम पर किसान विकास पत्र (Kisan Vikas Patra) के जरिए प्रत्येक साल 5000 रुपए निवेश किए जाते हैं। हालांकि, बच्ची 18 साल की होने के पहले इस रकम को नहीं निकाल सकती। साथ ही स्कीम का फायदा सूबे में सिर्फ वे लोग ही पा सकते हैं, जिनके यहां दूसरी बेटी पैदा हुई हो। पर योजना के तहत पहली बच्ची को बेनेफिट नहीं मिलता है। यह स्कीम उन परिवारों के लिए वृद्धावस्था भत्ता योजना (Old Age Allowance Scheme) की तर्ज पर है जिनकी केवल बेटी/बच्चियां हैं। इसे एक जनवरी 2006 से शुरू किया गया था।

स्कीम का किन्हें मिलता है लाभ?: socialjusticehry.gov.in के मुताबिक, कोई भी परिवार जहां जैविक एकल माता-पिता/मां-बाप हरियाणा के मूल निवासी हैं या फिर राज्य सरकार के लिए काम कर रहे हैं और उनका कोई बेटा, जैविक या दत्तक नहीं है। पर केवल बेटी/ बेटियां लाभ पाने की पात्र हैं। लाभ पाने वाले परिवार की सभी स्रोतों से सकल वार्षिक आय दो लाख रुपए से अधिक नहीं होनी चाहिए। इस स्कीम के तहत पात्र परिवार दोनों में से किसी एक के 45 साल की आयु पूरी करने की तिथि से 15 साल की अवधि के लिए लाभ प्राप्त करने का हकदार होगा। जीवित रहने पर माता को लाभ का भुगतान किया जाएगा। अगर मां जीवित नहीं हैं, तब पिता को लाभ का पेमेंट होगा।

यूं कर सकते हैं ऐप्लाई: हरियाणा सरकार की इस योजना का फायदा पाने के लिए आपको सूबे के महिला और बाल विकास विभाग के नजदीकी विभाग से संपर्क साधना होगा। आप इसके अलावा जीवन बीमा दफ्तर, सरकारी अस्पताल या फिर आंगनबाड़ी केंद्र से भी इस बारे में जानकारी जुटा सकते हैं। यही नहीं, आप हरियाणा सरकार की वेबसाइट पर इस बारे में अधिक जानकारी हासिल कर सकते हैं। वहां आपको योजना से जुड़ा फॉर्म डाउनलोड करने को भी मिल जाएगा।

हरियाणा में इसके अलावा महिलाओं/बच्चियों के लिए जो योजनाएं/सुविधाएं मौजूदा समय में हैं, उनमें बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ (Beti Bachao Beti Padhao), प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना (Pradhan Mantri Matru Vandhana Yojna), आपकी बेटी हमारी बेटी (Aapki Beti Hamari Beti), वन स्टॉप (Onestop Centre), राज्य महिला संसाधन केंद्र (State Resource Centre for Women), काम करने वाली महिलाओं के लिए हॉस्टल (Working Women Hostel), किशोरी शक्ति योजना (Kishori Shakti Yojna), यौन शोषण/अन्य अपराध का शिकार हुई पीड़िताओं के लिए मुआवजा वाली स्कीम (Compensation Scheme for Women Victims/survivors of sexual assault/other crimes – 2018), कन्या कोष (Kanya Kosh) व एसिड हमलों का शिकार हुईं महिलाओं के लिए राहत और पुनर्वास योजना (Scheme for Relief and Rehabilitation of Women Acid Victims) आदि शामिल हैं।