MGNREGA मजदूरों को योगी सरकार का तोहफा: बढ़ेगा मानदेय, HR पॉलिसी भी होगी लागू

राज्य सरकार ने मनरेगा संविदा कर्मचारियों का मानदेय बढ़ा दिया है, जिसमें 1590 रुपए से 3220 रुपए तक का इजाफा होगा। यह लाभ उन्हें इसी महीने (अक्टूबर) से ही मिलने लगेगा।

MGNREGA, UP, Utility News साइट पर काम करता हुए मजदूर। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटोः पार्था पॉल)

उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सरकार ने त्यौहारी मौसम में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम, 2005 (MGNREGA) के तहत काम करने वाले मजदूरों को बड़ा तोहफा दिया है।

राज्य सरकार ने मनरेगा संविदा कर्मचारियों का मानदेय बढ़ा दिया है, जिसमें 1590 रुपए से 3220 रुपए तक का इजाफा होगा। यह लाभ उन्हें इसी महीने (अक्टूबर) से ही मिलने लगेगा।

सोमवार (चार अक्टूबर, 2021) को सूबे की राजधानी लखनऊ में मनरेगा सम्मेलन में सीएम योगी बोले, “प्रदेश में ग्राम रोजगार सेवकों की संख्या 35,246 है। मौजूदा समय में इन्हें 6,780 रुपए मानदेय प्राप्त हो रहा है, जिसे बढ़ाकर 10,000 रुपए करने का निर्णय लिया गया है।”

उनके मुताबिक, मनरेगा कर्मियों का बढ़ा हुआ मानदेय माह अक्टूबर, 2021 से लागू होगा। इन कर्मिचायों ने अपने परिश्रम और पुरुषार्थ से ग्रामीण विकास को नयी ऊंचाइयों की ओर अग्रसर करने में उल्लेखनीय योगदान दिया है।

सीएम ने इसके अलाना मनरेगा कर्मियों के हित में और भी कई योजनाओं की घोषणा की। योगी ने इस मौके पर मनरेगा में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले कर्मियों को सम्मानित किया। कार्यक्रम के दौरान मनरेगा पर आधारित एक फिल्म भी दिखाई गई।

बता दें कि योगी सरकार ने मानदेय बढ़ाने से जुड़ा फैसला नवरात्रि, दुर्गा पूजा, दशहरा, करवाचौथ, दिवाली और छठ सरीखे पर्वों से ऐन पहले लिया है, जबकि इसका लाभ भी इसी महीने से दिया जाएगा।

ऐसे में माना जा रहा है सियासी गलियारों में चर्चा है कि मनरेगा कर्मचारियों को इस तोहफे के जरिए सरकार उन्हें चुनाव को ध्यान में रखकर साधना चाहती है। यूपी में अगले साल की शुरुआत में विधानसभा चुनाव होने हैं।