MP: कमलनाथ ने CM से मांगी साइकिल, बोले शिवराज- उम्र तो देखिए…

मध्य प्रदेश विधानसभा में पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों पर चर्चा के दौरान कमलनाथ ने शिवराज सिंह चौहान से की अपील, जवाब पर सदन में लगे ठहाके।

Madhya Pradesh, CM Shivraj Singh Chouhan, Kamalnath

देशभर में पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों को लेकर राजनीतिक सरगर्मियां तेज हो गई हैं। विपक्ष लगातार बढ़ी हुई एक्साइज ड्यूटी के मुद्दे पर केंद्र सरकार और भाजपा को घेरने में जुटा है। इसके बावजूद अब तक न तो केंद्र और न ही किसी राज्य सरकार की तरफ से बड़ी राहत का ऐलान किया गया है। इसी मुद्दे पर मध्य प्रदेश विधानसभा में भी शुक्रवार को बहस हुई। हालांकि, नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ और सीएम शिवराज सिंह चौहान के बीच सवाल-जवाब का जो मजेदार वाकया हुआ, उस पर सदन में मौजूद विधायक भी खुद को ठहाके लगाने से नहीं रोक पाए।

क्या हुई दोनों नेताओं के बीच चर्चा?: तेल के बढ़ते दामों पर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और मौजूदा नेता प्रतिपक्ष कमलनाथ ने शिवराज से कहा- मेरा आपसे एक निवेदन है। आपके पास जो साइकिल थी, वह मुझे तो भिजवा दी। इस पर पहले गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने खड़े होकर कहा- जिन्होंने चलाई थी, वो हांफ गए। बाद में शिवराज सिंह चौहान बोले- “आपको मैं साइकिल किसी भी कीमत पर नहीं भिजवाउंगा, उम्र का भी तो लिहाज करना है मुझे।”

मध्य प्रदेश में 100 रुपए के करीब है पेट्रोल की कीमत: बता दें कि देश में पेट्रोल-डीजल की कीमतें तेजी से बढ़ रही हैं। दिल्ली में आज पेट्रोल का भाव 24 पैसे प्रति लीटर और डीजल की कीमतों में 15 पैसे प्रति लीटर का इजाफा हुआ। इसके चलते दिल्ली में अब पेट्रोल की कीमत 91.19 रुपए पहुंच गई है, जबकि डीजल 81.47 रुपए प्रति लीटर है। मध्य प्रदेश के भोपाल में पेट्रोल 99.21 रुपए और डीजल 89.21 रुपए प्रतिलीटर पर मिल रहा है। बता दें कि एमपी तेल पर वैट वसूलने वाले कुछ अग्रिम राज्यों की लिस्ट में भी शामिल है।

तेल के दाम बढ़ने पर क्या है केंद्र सरकार का तर्क: केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान एक दिन पहले ही कहा था कि तेल-उत्पादक देश कच्चे तेल के दाम बढ़ा रहे हैं और इस वजह से देश में भी पेट्रोलियम उत्पाद महंगे हो रहे हैं। प्रधान ने कहा था, ‘‘ज्यादा लाभ कमाने के लिए कच्चे तेल के आपूर्तिकर्ता देश दाम बढ़ा रहे हैं।’’

धर्मेंद्र प्रधान आगे बोले- “कच्चे तेल के आपूर्तिकर्ता देशों से आग्रह किया गया है कि वे कच्चे तेल के दामों में बढ़ोतरी नहीं करें, क्योंकि इससे उपभोक्ता सीधे प्रभावित होते हैं।” प्रधान ने कहा कि इन देशों ने देशहित में कीमतें कृत्रिम तरीके से बढ़ाई हैं। उन्होंने कहा, ‘‘आप मनमाने तरीके से दाम नहीं बढ़ा सकते क्योंकि इससे उपभोक्ता देशों पर असर पड़ता है।’’ पेट्रोलियम मंत्री ने कहा कि खराब मौसम की वजह से पिछले दो-तीन सप्ताह में अमेरिका में भी उत्पादन घटा है। उन्होंने उम्मीद जताई कि स्थिति में जल्द सुधार होगा।