Nobel Prize 2021: आज होगा फिजिक्‍स के नोबेल पुरस्‍कार का ऐलान

ओस्लो. इस साल के लिए नोबेल पुरस्कारों का सोमवार से शुरू हुआ है. आज मंगलवार को भौतिक विज्ञान के नोबेल पुरस्‍कार (Nobel Prize 2021) का ऐलान किया जाएगा. इस पुरस्‍कार का मकसद नए आविष्‍कारों को सम्‍मानित करना है. माना जा रहा है कि रॉयल स्‍वीडिश अकेडमी ऑफ साइंसेज आज शाम तक इन पुरस्‍कारों का ऐलान कर देगी.

बता दें कि सोमवार को मेडिसिन के लिए नोबेल पुरस्कारों का ऐलान हुआ था. बुधवार को केमेस्‍ट्री के नोबेल पुरस्‍कार विजेताओं के नाम की घोषणा की जाएगी. इसके अगले दिन साहित्‍य, फिर शांति और सबसे आखिरी में अर्थशास्‍त्र के नोबेल पुरस्‍कार का ऐलान होगा.

पिछले वर्ष भौतिक विज्ञान का नोबेल पुरस्‍कार अमेरिकी वैज्ञानिक आंड्रेया घेज, ब्रिटेन के रोजर पेनरोज और जर्मनी के रिनार्ड गेनजेल को इस पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया गया था. इन तीनों को ब्‍लैक होल्‍स पर रिसर्च के लिए इस पुरस्‍कार से सम्‍मानित किया गया था. इस पुरस्‍कार को हासिल करने वाले व्‍यक्ति को एक गोल्‍ड मेडल के साथ 1.14 मिलियन डॉलर कैश में दिए जाते हैं.

इस पुरस्‍कार राशि को अल्‍फ्रेड नोबल की वसीयत से दिया जाता है. अल्‍फ्रेड नोबेल ने ही इन पुरस्‍कारों की शुरुआत की थी. वो एक स्‍वीडिश आविष्‍कारक थे और साल 1895 में उनका निधन हो गया था. आने वाले दिनों में केमेस्‍ट्री, साहित्‍य, शांति और अर्थशास्‍त्र के लिए नोबल पुरस्‍कार का ऐलान किया जाएगा.

मेडिसिन के नोबेल की घोषणा
सोमवार को नोबेल कमेटी की तरफ से मेडिसिन क्षेत्र के नोबल पुरस्‍कारों का नाम तय किया गया है. अमेरिकी डेविड जूलियस और अर्देम पटापाउटियन को साल 2021 के लिए मेडिसिन का नोबल देने का फैसला किया गया है. इन दोनों ने अध्‍ययन किया था कि मानव शरीर तापमान और स्‍पर्श के लिए किस तरह से प्रतिक्रिया देता है. फिजियोलॉजी या मेडिसिन नोबेल पुरस्कार दोनों लोगों को संयुक्त रूप से दिया गया है. 2021 के नोबेल पुरस्कारों में से पहले पुरस्कारों की घोषणा की गई है.

घर में ही मिलेगा नोबेल पुरस्‍कार
कोरोना वायरस महामारी के चलते इस बार भी नोबेल पुरस्कार विजेताओं को उनके घरों में ही दिए जाएंगे. नोबेल पुरस्कारों का आयोजन करने वाले फाउंडेशन ने कोविड-19 महामारी की हवाला देते हुए कहा था कि लगातार दूसरे साल विज्ञान और साहित्य के विजेताओं को उनके देशों में ही पुरस्कार दिया जाएगा. फाउंडेशन ने शांति पुरस्कार को लेकर कोई फैसला अभी तक नहीं किया है. पारंपरिक रूप से नोबल शांति पुरस्कार नॉर्वे में दिए जाते हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.