PM Kisan App पर नए रजिस्ट्रेशन से स्टेटस तक चेक कर सकते हैं किसान, जानें- और क्या मिलती है सुविधाएं

चूंकि, ऐप स्टोर पर इन दिनों ढेरों ऐप्लिकेशंस की भरमार है। ऐसे में कई यूजर्स असली पीएम किसान ऐप को खोजने में परेशान हो सकते हैं। इसलिए आपको वह ऐप इंस्टॉल करना है, जिसका नाम पीएम किसान गीओआई हो।

pm kisan, farmer, utility news PM Kisan App को एंड्रॉयड पर Google Play Store से डाउनलोड किया जा सकता है। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

‘प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का लाभ इसकी वेबसाइट के अलावा मोबाइल ऐप के जरिए भी लिया जा सकता है। आप अपने स्मार्टफोन पर “PMKISAN GoI” ऐप्लिकेशन इंस्टॉल कर चंद अंगुलियों के क्लिक्स पर ढेर सारी सुविधाएं पा सकते हैं। मसलन नए किसान के रजिस्ट्रेशन से लेकर लाभ पाने वाले आवेदनकर्ता का स्टेटस तक इसके जरिए पता किया जा सकता है। आइए जानते हैं PMKISAN GoI ऐप के बारे में:

चूंकि, ऐप स्टोर पर इन दिनों ढेरों ऐप्लिकेशंस की भरमार है। ऐसे में कई यूजर्स असली पीएम किसान ऐप को खोजने में परेशान हो सकते हैं। इसलिए आपको वह ऐप इंस्टॉल करना है, जिसका नाम पीएम किसान गीओआई हो। इसका लोगो हरे रंग का होगा, जिसमें किसान का एक फोटो और पीएम किसान लिखा होगा।

  • आपको सबसे पहले इसे गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड करना पड़ेगा।
  • इंस्टॉल करने के बाद अपनी भाषा चुनकर इसका सेटअप कर लें। फिर इसका होम पेज खुलकर आएगा।
  • वहां आपको कुछ विकल्प मिलेंगे, जिन्हें चुनकर आप अपने काम को सरल बना सकते हैं।

ऐप के जरिए किए जा सकते हैं ये कामः आप पीएम-किसान ऐप के जरिए लाभार्थी का स्टेटस पता कर सकते हैं, योजना में अपडेट किए हुए आधार डिटेल्स में सुधार कर सकते हैं, खुद से किए गए रजिस्ट्रेशन का स्टेटस जान सकते हैं, नए किसान का पंजीकरण किया जा सकता है और स्कीम के बारे में जानकारी हासिल की जा सकती है। इसके अलावा पीएम किसान हेल्पलाइन और स्टेट नोडल ऑफिसर का संपर्क सूत्र भी यहां मिल जाता है।

बता दें कि पीएम किसान भारत सरकार से 100% वित्त पोषण के साथ एक केंद्रीय क्षेत्र की योजना है। यह 1/12/2018 से अमल में है। इस योजना के तहत सभी किसान परिवारों को ₹ 6000/- प्रति वर्ष की आय सहायता प्रदान की जाती है। योजना के लिए परिवार की परिभाषा पति, पत्नी और नाबालिग बच्चे हैं।

राज्य सरकार और केन्द्र शासित प्रदेश का प्रशासन उन किसान परिवारों की पहचान करेगा जो योजना के दिशानिर्देशों के अनुसार समर्थन के पात्र हैं। फंड सीधे लाभार्थियों के बैंक खातों में ट्रांसफर किया जाता है। योजना के लिए विभिन्न बहिष्करण श्रेणियां हैं।