PM Kisan Yojana: अपात्र लाभार्थियों के खिलाफ एक्शन, कार्रवाई से बचना चाहते हैं तो जानिए कहां जमा करें पैसे?

PM Kisan Yojana: किसानों के पास विकल्प है कि वे खुद किस्त का पैसा जमा कर इस योजना की लाभार्थी सूची से बाहर हो जाएं। इसके लिए अपात्र किसान अपने राज्य के उप कृषि निदेशक कार्यालय में किस्त का पैसा जमा कर सकते हैं।

(फाइल फोटो) सोर्स: PTI

Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Yojana: प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थी किसानों को सालाना 6 हजार रुपये की आर्थिक मदद दी जाती है। 2-2 हजार रुपये की तीन किस्त सालभर में बैंक खाते में ट्रांसफर की जाती है। सभी किसान इस योजना का लाभ नहीं ले सकते।

सरकार ने इसकी शर्तें तय की हुई हैं कि कौन से किसान इस योजना के लिए पात्र हैं। वहीं कई किसान ऐसे भी हैं जो कि इस योजना के लिए पात्र नहीं हैं और फिर भी लाभ ले रहे हैं। ऐसे में इन किसानों की पहचान कर कार्रवाई की जा रही है। ऐसे किसानों को पहले नोटिस भेजा जाता है और फिर दी गई किस्त का पैसा रिकवर किया जाता है।

PM Kisan Yojana: लाभार्थी सूची के लिए ऐसे शॉर्टलिस्ट होते हैं किसानों के नाम, जानें पूरा प्रॉसेस

किसानों के पास यह भी विकल्प है कि वे खुद किस्त का पैसा जमा कर इस योजना की लाभार्थी सूची से बाहर हो जाएं। इसके लिए अपात्र किसान अपने राज्य के उप कृषि निदेशक कार्यालय में किस्त का पैसा जमा कर सकते हैं। पैसा जमा करने के बाद उन्हें रसीद मिलेगी। किसान के इस कदम के बाद उसका डेटा पीएम किसान सम्मान निधि योजना (PM Kisan Samman Nidhi Yojana) के आधिकारिक पोर्टल से हटा दिया जाएगा। नियमों के मुताबिक एक समय पर पति-पत्नी दोनों इस योजना का लाभ नहीं ले सकते। ऐसे में ऐसे किसान परिवार पर कार्रवाई की जा रही है।

साल 2019 में शुरू की गई इस स्कीम के तहत अबतक 9 किस्त जारी की जा चुकी हैं। कई किसान ऐसे भी हैं जो कि इस स्कीम के लिए पात्र हैं लेकिन अपनी गलतियों की वजह से ही किस्त का लाभ नहीं ले पाते। कुछ गलतियों के चलते कई किसानों की किस्त रोक ली जाती है। मसलन आवेदनकर्ता का नाम और बैंक खाते में आवेदनकर्ता का नाम एक समान न होना। बैंक खाता संख्या गलत दर्ज करना या फिर आधार संख्या गलत दर्ज करना आदि।