PM Kisan Yojana: पत्नी के नाम खेत पर पति को मिल रही किस्त? जानें पत्नी को क्यों नहीं मिल सकता फायदा

Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Scheme के नियमों के मुताबिक पति पत्नी में से कोई एक योजना का लाभ ले सकता है। चाहे जमीन दोनों में से किसी के भी नाम पर क्यों न हो। अगर कोई पति-पत्नी ऐसा करते हैं तो उनसे किस्त की रिकवरी की जा सकती है।

पति पत्नी में से कोई एक योजना का लाभ ले सकता है। Source: Express photo by Bhupendra Rana

Pradhan Mantri Kisan Samman Nidhi Scheme: प्रधान मंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को सालाना 6 हजार रुपये दिए जाते हैं। 2-2 हजार रुपये की तीन किस्त सालभर में बैंक खाते में ट्रांसफर की जाती है। सरकार 2019 से अबतक 9 किस्त जारी कर चुकी है।

इस योजना को लेकर किसानों के मन में कई तरह के सवाल होते हैं। ऐसा ही एक सवाल यह है कि योजना का लाभार्थी बनने की पात्रता को लेकर है। किसानों के मन में यह सवाल रहता है कि अगर किसी की पत्नी के नाम पर खेत है लेकिन पति आवेदन कर लाभार्थी सूची में शामिल है और उसे किस्त मिल रही है तो क्या पत्नी भी लाभार्थी (किस्त पाने के लिए) बनने की हकदार है?

PM Kisan Yojana: लाभार्थी सूची के लिए ऐसे शॉर्टलिस्ट होते हैं किसानों के नाम, जानें पूरा प्रॉसेस

योजना के नियमों के मुताबिक पति पत्नी में से कोई एक योजना का लाभ ले सकता है। चाहे जमीन दोनों में से किसी के भी नाम पर क्यों न हो। अगर कोई पति-पत्नी ऐसा करते हैं तो उनसे किस्त की रिकवरी की जा सकती है। सरकार अपात्र किसानों से किस्त रिकवर कर रही है। रिकवरी से पहले कई किसानों को नोटिस भी जारी किए गए हैं। योजना के नियमों में परिवार का आशय पति-पत्नी और दो नाबालिग बच्चों से है। यानी परिवार के किसी एक सदस्य को ही इसका लाभ मिल सकता है न कि पति-पत्नी दोनों को।

इस तरह करें आवेदन:-

  • आवेदन के लिए आधिकारिक पोर्टल https://pmkisan.gov.in/ पर विजिट करना होगा।
  • वेबसाइट पर मौजूद ‘Farmers Corner’ में जाएं
  • अब ‘New Farmer Registration’ पर क्लिक करें
  • आपके सामने एक नई टैब ओपन हो जाएगी
  • यहां पर आप आधार नंबर और इमेज कोड डालकर ‘Click here to continue’ पर क्लिक करना होगा
  • अब रजिस्ट्रेशन फॉर्म खुलकर आ जाएगा
  • यहां पर राज्य, जिला, गांव, ब्लॉक, सब-डिस्ट्रिक्ट, जेंडर, माता/पिता/पति का नाम और एड्रेस आदि की जानकारी भरें
  • अपनी जमीन की जानकारी देने के लिए सर्वे या खाता नंबर, खसरा नंबर और एरिया का साइज भी दर्ज करें
  • इन्हें भरने के बाद ‘Save’ पर क्लिक करते ही आपका आवेदन हो जाएगा।