Post Office में है खाता, तो बढ़ेगा बोझ! India Post ATM Card ट्रांजैक्शन के बदल गए नियम; पिन भूलना भी पड़ेगा महंगा

यही नहीं, अगर अपर्याप्त खाता शेष के कारण एटीएम या पीओएस लेनदेन से इन्कार कर दिया जाता है, तब ग्राहक को इसके लिए 20 रुपए और जीएसटी का भुगतान करना होगा।

Post Office, Post Office ATM, Utility News मुंबई के दादर में पोस्ट ऑफिस के बाहर लंबी लाइन में अपनी बारी का इंतजार करते लोग। (एक्सप्रेस आर्काइव फोटोः प्रशांत नादकर)

Post Office में अगर आपका बचत खाता (Post Office Savings Account) है, तब एक अक्टूबर, 2021 से आप पर बोझ बढ़ने वाला है। अब महीने में किए जाने वाले एटीएम कार्ड ट्रांजैक्शन पर नया शुल्क देना पड़ेगा और यह चार्जेज़ शुक्रवार से अमल में आएंगे। डाक विभाग के एक सर्कुलर के मुताबिक, पोस्ट ऑफिस एटीमएम कार्ड का शुल्क बैंकों की तरह ही हो जाएगा।

1 अक्टूबर से डाकघर एटीएम/डेबिट कार्ड के लिए वार्षिक रख-रखाव शुल्क 125 रुपए + जीएसटी होगा। शुल्क 1 अक्टूबर 2021 से 30 सितंबर 2022 तक लागू होंगे। इस बीच, एसएमएस अलर्ट के लिए इंडिया पोस्ट अब ग्राहकों से 12 रुपए + जीएसटी लेगा।

नए सर्कुलर के अनुसार, अगर एक इंडिया पोस्ट ग्राहक अपना एटीएम कार्ड खो देता है, तब उन्हें एक अक्टूबर से एक नया कार्ड हासिल करने के लिए 300 रुपए प्लस जीएसटी का भुगतान करना होगा। अगर कोई ग्राहक अपना एटीएम पिन खो देता है, तब दूसरा पिन प्राप्त करने के लिए, उन्हें 50 रुपए के साथ जीएसटी का भुगतान करना होगा।

यही नहीं, अगर अपर्याप्त खाता शेष के कारण एटीएम या पीओएस लेनदेन से इन्कार कर दिया जाता है, तब ग्राहक को इसके लिए 20 रुपए और जीएसटी का भुगतान करना होगा।

डाक विभाग ने यह भी कहा है कि इंडिया पोस्ट के अपने एटीएम पर केवल पांच मुफ्त लेन-देन होंगे और उसके बाद ग्राहकों को प्रति लेन-देन 10 रुपए + जीएसटी का भुगतान करना होगा। इस बीच, ग्राहकों को पांच मुफ्त लेन-देन के बाद गैर-वित्तीय लेनदेन के लिए पांच रुपए + जीएसटी का भुगतान करना होगा। प्वॉइंट ऑफ सर्विस (पीओएस) पर नकद निकासी के लिए डेबिट कार्डधारकों को लेन-देन का एक फीसदी भुगतान करना होगा, जो कि प्रति लेन-देन अधिकतम पांच रुपये के अधीन है।