The Hundred Womens: शैफाली वर्मा के बिना उतरी बर्मिंघम फोनिक्स खिताब की रेस से बाहर, 8 बल्लेबाज नहीं छू पाईं दहाई का आंकड़ा

एक समय बर्मिंघम फोनिक्स का स्कोर 45 गेंद में 2 विकेट पर 66 रन था। तब ऐसा लग रहा था कि वह आसानी से मैच जीतकर फाइनल में अपनी जगह पक्की कर लेगी, लेकिन तभी ओवल इनविसिबेल्स की तेज गेंदबाज नताशा फर्रांट ने उनकी उम्मीदों पर पानी फेर दिया।

Oval Invincibles beat Birmingham Phoenix by 20 runs द हंड्रेड वुमन्स के एलिमिनेटर में ओवल इनविसिबेल्स ने शुक्रवार रात बर्मिंघम फोनिक्स को 20 रन से हराया। (सोर्स- ट्विटर @guardian_sport)

द हंड्रेड वुमन्स कॉम्पिटिशन 2021 ( The Hundred Womens Competition 2021) का फाइनल सदर्न ब्रेव और ओवल इनविसिबेल्स (Oval Invincibles) के बीच शनिवार यानी 21 अगस्त की रात लंदन के लॉर्ड्स में खेला जाएगा। शुक्रवार रात लंदन के केनिंगटन ओवल मैदान पर हुए एलिमिनेटर में ओवल इनविसिबेल्स ने भारत की धाकड़ ओपनर शैफाली वर्मा वाली टीम बर्मिंघम फोनिक्स को 20 रन से हराया।

बर्मिंघम फोनिक्स इस मैच में शैफाली वर्मा के बिना उतरी, क्योंकि भारतीय ओपनर स्वदेश लौट गईं हैं। इस मैच में बर्मिंघम फोनिक्स (Birmingham Phoenix) ने टॉस जीता और गेंदबाजी का फैसला किया। पहले बल्लेबाजी करने उतरी ओवल इनविसिबेल्स ने 100 गेंद में 7 विकेट पर 114 रन बनाए। बर्मिंघम फोनिक्स की कसी हुई गेंदबाजी के कारण उसकी 4 बल्लेबाज ही दहाई का आंकड़ा छू पाईं।

लक्ष्य का पीछा करने उतरी बर्मिंघम फोनिक्स शुरुआती झटकों से उबरने के बावजूद 94 गेंद में 10 विकेट के नुकसान पर 94 रन ही बना पाई। उसकी 8 बल्लेबाज दहाई का आंकड़ा नहीं छू पाईं। दोनों ओपनर्स कैटी मैक और एवलिन जोंस तो खाता भी नहीं खोल पाईं।

ओवल इनविसिबेल्स की इस जीत में उसकी तेज गेंदबाज नताशा फर्रांट (Natasha Farrant) ने अहम भूमिका निभाई। उन्होंने 19 गेंद में महज 10 रन देकर 4 विकेट झटके।

उनके अलावा मारिजाने कैप (Marizanne Kapp) ने भी बर्मिंघम फोनिक्स की बल्लेबाजी की कमर तोड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ी। उन्होंने 15 गेंद में 21 रन देकर 3 विकेट लिए। उन्होंने दोनों ओपनर्स को 13 गेंद के भीतर ही पवेलियन भेज दिया था।

दोनों ओपनर के आउट होने के बाद एमी एलन जोंस और एरिन बर्न्स ने तीसरे विकेट के लिए 33 गेंद में 52 रन की साझेदारी की। उस समय लग रहा था कि बर्मिंघम फोनिक्स आसानी से यह मैच जीतकर फाइनल में जगह बना लेगी। लेकिन तभी ओवल इनविसिबेल्स की कप्तान डेन वान निकर्क (Dane van Niekerk) ने कैप के साथ दूसरे छोर से फर्रांट को गेंद सौंपी।

कैप ने एरिन बर्न्स को पवेलियन भेजा। उसके बाद फर्रांट ने एमी जोंस को पवेलियन की राह दिखाई। इसके बाद तो बर्मिंघम फोनिक्स की पूरी टीम ताश के पत्तों की तरह बिखर गई। आखिरी की 6 बल्लेबाज क्रमशः 4, 1, 2, 2, 5 और एक रन ही बना पाईं।