Tokyo Paralympics: भाविनाबेन पटेल ने फाइनल में पहुंचते ही रचा इतिहास, बनीं ऐसा करने वाली पहली भारतीय खिलाड़ी

भारत की स्टार पैरा टेबिल टेनिस खिलाड़ी भाविनाबेन पटेल ने शनिवार को पूरे देश को जश्न का माहौल दिया। भारतीय पैडलर ने टोक्यो पैरालंपिक के फाइनल में पहुंचकर इतहिसार रचते हुए कई रिकॉर्ड अपने नाम किए।

tokyo-paralympics-indian-table-tennis-player-bhavinaben-patel-scripted-history-by-reaching-into-finals टोक्यो पैरालंपिक में भारत की टेबल टेनिस खिलाड़ी भाविनाबेन पटेल ने भारत के लिए एक मेडल पक्का करते हुए और फाइनल में पहुंचते हुए कई रिकॉर्ड अपने नाम किए हैं (Source: Indian Express Twitter)

टोक्यो ओलंपिक में इतिहास रचने के बाद भारत के पैरा खिलाड़ियों के भी हौसले टोक्यो पैरालंपिक में बुलंद हैं। भारत की टेबल टेनिस खिलाड़ी भाविनाबेन पटेल ने शनिवार को टोक्यो पैरालंपिक के फाइनल में पहुंचकर कई रिकॉर्ड बनाते हुए इतिहास रच दिया है।

भाविना ने महिला सिंगल्स क्लास-4 के फाइनल में जगह बना ली है। उन्होंने सेमीफाइनल में चीन की मियाओ झांग को 3-2 (7-11, 11-7, 11-4, 9-11, 11-8) से हराया। भविना अब बस गोल्ड मेडल जीतने से एक कदम दूर हैं।

फाइनल में भाविना का सामना चीन की ही खिलाड़ी वर्ल्ड नंबर-1 झोउ यिंग से होगा। फाइनल मुकाबला 29 अगस्त को सुबह 7:15 बजे से होगा।

फाइनल में पहुंचते ही बनाए ये रिकॉर्ड

भाविनाबेन ने टोक्यो पैरालंपिक के सेमीफाइनल में पहुंचते ही भारत के लिए एक मेडल पक्का कर दिया था। इसी के साथ वे भारत के लिए पैरालंपिक में मेडल जीतने वाली दूसरी महिला बन गईं। वहीं टेबिल टेनिस में वे भारत के लिए मेडल जीतने वाली पहली खिलाड़ी बन गईं।

इसके अलावा अगर वे गोल्ड जीत जाती हैं तो वे ऐसा करने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी होंगी। इससे पहले पैरालंपिक खेलों में किसी भी भारतीय महिला खिलाड़ी ने कोई भी गोल्ड मेडल नहीं जीता था। वहीं टेबल टेनिस में भारत को कभी भी कोई मेडल नहीं मिला था।

सेमीफाइनल में पहुंचने के साथ ही भाविना ने इतिहास रच दिया था। उनसे पहले कोई भी भारतीय पैरा टोक्यो पैरालंपिक्स के टेबल टेनिस के क्वार्टर फाइनल तक भी नहीं पहुंचा था। भाविना ने सेमीफाइनल में पहुंचकर ये रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया था। क्वार्टर फाइनल से पहले भाविना ने ग्रेट ब्रिटेन की मेगान शैकलेटॉन को 3-1 से हराया था।

गौरतलब है कि भाविना इससे पहले, झांग के खिलाफ 11 मुकाबलों में भिड़ी थी, लेकिन वह अभी जीत दर्ज नहीं कर सकी थी। हालांकि आज उन्होंने पिछली सभी हार का बदला ले लिया।