UAE में बदला वीकेंड, ऐसा करने वाला पहला अरब देश बना, अब हफ्ते में सिर्फ 4.5 दिन ही होगा काम

नई दिल्ली. संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में अब आधिकारिक कामकाजी हफ्ते को घटाकर 4.5 दिन किया जा रहा है. और सप्ताहांत शनिवार और रविवार किया जा रहा है, इसके पीछे उद्देश्य प्रतिस्पर्धा में सुधार करना है. राष्ट्रीय कामकाजी सप्ताह 1 जनवरी से सभी सरकारी इकाइयों में अनिवार्य होगा और क्षेत्रीय मानदंडों के आधार पर मुस्लिमों की प्रार्थना के लिए शुक्रवार को पूरे दिन की छुट्टी रहेगी.

संसाधनों से संपन्न और महत्वाकांक्षी यूएई अब एकमात्र ऐसा खाड़ी देश बन गया है जहां सप्ताहांत शुक्रवार और शनिवार नहीं होगा. साथ ही वह गैर अरब दुनिया की सूची में भी शामिल हो गया है. नई समयसारणी के तहत अब सार्वजनिक क्षेत्र में सप्ताहांत शुक्रवार की दोपहर से शुरू होगा और रविवार को समाप्त होगा. मस्जिदों में जुमे की नमाज पूरे साल 1.15 मिनट पर होगी.

UAE में अब कामकाजी सप्ताह 5 दिन से कम
एनडीटीवी इंडिया में प्रकाशित खबर के मुताबिक संयुक्त अरब अमीरात ने यह कदम वैश्विक बाजार के साथ तालमेल बैठाने के लिए उठाया है. इस तरह उनका कामकाजी सप्ताह दुनिया में सबसे छोटा होगा. इस तरह यूएई दुनिया का पहला ऐसा देश बन गया है जिसने पांच दिन के कामकाजी सप्ताह से छोटा राष्ट्रीय कामकाजी सप्ताह रखने की प्रक्रिया को शुरु किया है. इससे पहले 2006 तक यूएई में गुरुवार-शुक्रवार सप्ताहंत होता था, फिर निजी क्षेत्र के हिसाब से इसे शुक्रवार-शनिवार किया गया.

ऐसा लगता है जैसे गांधी का भारत, गोडसे के भारत में बदल रहा है, जानें ऐसा क्‍यों बोलीं महबूबा मुफ्ती

रिपोर्ट के मुताबिक सप्ताहंत को बढ़ाने के पीछे यूएई सरकार का उद्देश्य कामकाजी- और सामाजिक जीवन में संतुलन स्थापित करना और उसे बेहतर करना है. ताकि यूएई की आर्थिक प्रतिस्पर्धा में गुणात्मक बढ़ोतरी हो सके.

आर्थिक नजरिए से देखे तों नया कामकाजी सप्ताह यूएई को वैश्विक बाजार के साथ बेहतर तरीके से तालमेल बैठाने में मदद करेगा. इससे उन देशों के साथ व्यापार, आर्थिक लेन देने करने में सहूलियत होगी जो शनिवार-रविवार को सप्ताहंत मानते हैं. यूएई का यह फैसला उसका एक और साहसिक कदम है. जिसका सोशल मीडिया पर खुलकर समर्थन किया जा रहा है.

Tags: Muslim and Arab world, UAE