UAE: हवाई अड्डे पर राष्ट्रपति शेख मोहम्मद के गले लगे प्रधानमंत्री मोदी तो सोशल मीडिया पर कुछ इस तरह से हुआ अब्बास का जिक्र

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यूएई की राजधानी अबू धाबू पहुंचे तो वहां के राष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान ने गले मिलकर जोरदार तरीके से उनका स्वागत किया। इस दौरे को लेकर उम्मीद है कि दोनों देशों के रिश्ते और मजबूत होंगे।

PM modi in Abu Dhabi| UAE President आबू धाबी में यूएई के राष्ट्रपति ने किया पीएम मोदी का जोरदार स्वागत (फोटो सोर्स- ट्विटर वीडियो ग्रैब/ एएनआई)

जी-7 शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने के बाद जब मंगलवार (28 जून, 2022) को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अबू धाबी पहुंचे तो, संयुक्त अरब अमीरात के राष्ट्रपति शेख मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान ने गर्मजोशी के साथ स्वागत किया। उन्होंने पीएम मोदी को गले लगाकर दोस्ती को और मजबूत किया।

बता दें कि प्रधानमंत्री यहां यूएई के पूर्व राष्ट्रपति शेख खलीफा बिन जयाद अल नाहयान के निधन पर व्यक्तिगत रूप से शोक व्यक्त करेंगे। उनका लंबी बीमारी के बाद पिछले महीने निधन हो गया था। यूएई के राष्ट्रपति ने पीएम मोदी से गले मिलकर उनका जोरदार स्वागत किया, तो इस पर लोगों की खूब प्रतिक्रिया देखने को मिली। इस पर कुछ लोगों ने अब्बास का जिक्र करते हुए रिएक्शन दिए हैं।

एक ट्विटर यूजर आमीर मलिक जनर्लिस्ट ने लिखा, “गले तो ऐसे मिल रहे हैं जैसे बचपन का दोस्त अब्बास मिल गया हो।” एक और यूजर कोमरेड सैफ अली ने कहा, “हबीबी ऐसे गले मिल रहा है जैसे अब्बास से बहुत सालो के बाद मिल रहा है।” वहीं, अजय मिश्रा नाम के एक यूजर ने कहा, “जुबेर के चेलों देख रहे हो ना?”

Azam Khan| samajwadi party| uttar pradesh|

रामपुर लोकसभा उपचुनाव: मुस्लिम बहुल इलाकों में बीजेपी को मिले कितने वोट, आजम खान के गढ़ में कैसे बदल गया खेल, जानें

guru transit 2022, jupiter transit 2022

1 साल तक इन राशियों पर रहेगी देवताओं के गुरु बृहस्पति की विशेष कृपा, आकस्मिक धनलाभ और भाग्योदय के प्रबल आसार

agnipath sceame | kanhaiya kumar | modi government

अग्निपथ का विरोध करने पहुंचे कन्हैया कुमार को युवाओं ने कहा- देशद्रोही, हुई मारपीट

1 साल तक इन 3 राशि वालों को मिलेगा राहु ग्रह का विशेष आशीर्वाद, आकस्मिक धनलाभ और उन्नति के प्रबल योग

बता दें कि यूएई और भारत के रिश्ते हमेशा से ही काफी अच्छे रहे हैं। पीएम मोदी के इस दौरे को लेकर उम्मीद है कि भारत के साथ यूएई के रिश्तों में और मजबूती आएगी। आर्थिक रूप से यूएई भारत के लिए काफी अहम रहा है।

शेख खलीफा के निधन पर भारत में 14 मई को मनाया गया था शोक दिवस
यूएई के पूर्व राष्ट्रपति शेख खलीफा के निधन पर भारत ने 14 मई को राष्ट्रीय शोक दिवस की घोषणा की थी। इस दिन पूरे देश में सभी सरकारी भवनों पर भारतीय राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा झुका रहा था। शेख खलीफा यूएई के संस्थापक शेख जायद बिन सुल्तान अल नाहयान के सबसे बड़े बेटे थे। उन्होंने 3 नवंबर, 2004 से अपने निधन तक यूएई के राष्ट्रपति और आबू धाबी के शासक के रूप में कार्य किया।