UN में इमरान खान ने छेड़ा कश्मीर राग, भारत का कड़ा जवाब- ओसामा को दी पनाह, PAK आग से लड़ने वाले के भेष में आग लगाने वाला मुल्क

देश के बयान के अनुसार, “पाकिस्तान के लिए बहुलवाद को समझना बहुत मुश्किल है जो अपने अल्पसंख्यकों को सरकार में उच्च पदों की आकांक्षा रखने से रोकता है। समूचे केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर और लद्दाख, भारत के अभिन्न और अविभाज्य हिस्से थे, हैं और रहेंगे।”

India, First Secy, Sneha Dubey भारत की ओर से यूएनजीए में अपनी बात रखते हुए फर्स्ट सेक्रेट्री स्नेहा दुबे।

भारत ने संयुक्त राष्ट्र महासभा में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के संबोधन पर जवाब देने के अधिकार में कहा, “विश्व भर में माना जाता है कि पाकिस्तान आतंकवादियों का खुले तौर पर समर्थन करता है और उन्हें हथियार मुहैया करवाता है। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद द्वारा प्रतिबंधित सर्वाधिक आतंकवादियों को रखने का घटिया रिकॉर्ड पाकिस्तान के पास है।”

भारत की ओर से आगे कहा गया- ओसामा बिन लादेन को पाकिस्तान में पनाह मिली। आज भी पाकिस्तानी नेतृत्व उसे ‘शहीद’ कहकर महिमामंडित करता है। पाकिस्तान आतंकवादियों को इस उम्मीद में पालता है कि वे केवल उसके पड़ोसियों को नुकसान पहुंचाएंगे। हम सुनते आ रहे हैं कि पाकिस्तान ‘‘आतंकवाद का शिकार’’ है। लेकिन यह आग से लड़ने वाले के भेष में आग लगाने वाला देश है।

देश के बयान के अनुसार, “पाकिस्तान के लिए बहुलवाद को समझना बहुत मुश्किल है जो अपने अल्पसंख्यकों को सरकार में उच्च पदों की आकांक्षा रखने से रोकता है। समूचे केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर और लद्दाख, भारत के अभिन्न और अविभाज्य हिस्से थे, हैं और रहेंगे।”

दरअसल, यूएन महासभा में शुक्रवार शाम प्रसारित अपने पूर्व-रिकॉर्डेड भाषण में पाकिस्तानी पीएम ने कहा था, “नई दिल्ली ने जम्मू-कश्मीर विवाद के अंतिम समाधान के लिए इसे शुरू कर दिया है।” यह 2019 में भारत सरकार के अनुच्छेद 370 को निरस्त करने के फैसले के संदर्भ में था। उन्होंने कश्मीर में भारतीय बलों द्वारा किए गए “मानव अधिकारों का घोर और व्यवस्थित उल्लंघन” कहा था।