Uttarakhand Election: रामनगर की जगह लाल कुआं क्‍यों की गई हरीश रावत की सीट, जानें क्‍या है कारण

पार्टी के द्वारा इस सीट से हरीश रावत को टिकट दिए जाने के बाद रणजीत रावत ने बगावती तेवर अपना लिया था। जिसके बाद पार्टी ने रामनगर सीट से हरीश रावत का टिकट वापस ले लिया।

हरीश रावत को लालकुआं सीट से उम्मीदवार बनाया गया है। (फोटो: facebook/ Harishrawatcmuk)

बुधवार को कांग्रेस ने उत्तराखंड विधानसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों की तीसरी सूची जारी की। इस सूची में उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत को रामनगर की बजाय लालकुआं सीट से उम्मीदवार गया। कांग्रेस ने इस सीट से पूर्व में घोषित उम्मीदवार संध्या डालाकोटी का टिकट काटकर हरीश रावत को इस सीट से उतारा है।

लालकुआं सीट से प्रत्याशी बनाए जाने पर हरीश रावत ने कहा कि मैं रामनगर से चुनाव की तैयारी कर रहा था लेकिन पार्टी ने लालकुआं सीट से उतारा है। पार्टी जमीनी रिपोर्ट के आधार पर और लोगों के रुझान का विश्लेषण करते हुए फैसला लेती है। बता दें कि सोमवार को कांग्रेस पार्टी ने 11 उम्मीदवारों की एक सूची जारी की थी। जिसमें हरीश रावत को रामनगर सीट से उम्मीदवार बनाया गया था। लेकिन बुधवार को जारी लिस्ट में उनकी सीट बदल दी गई।

रामनगर सीट से टिकट वापस लिए जाने के बाद अपने फेसबुक पेज से किए गए पोस्ट में उन्होंने लोगों से माफ़ी मांगते हुए कहा कि क्षमा रामनगर, क्षमा। मैं अपनी जिंदगी की एक बड़ी अभिलाषा को पूरा नहीं कर पाया। मैं क्षमा चाहता हूं। रामनगर से चुनाव न लड़ना मेरे लिए एक भावनात्मक चोट है। मैं चुनाव भले ही न लड़ पा रहा हूं रामनगर से, मगर रामनगर हमेशा मेरे हृदय में रहेगा और मैं जिस अभिलाषा के साथ रामनगर और उससे चारों तरफ से जुड़े हुए क्षेत्रों का आर्थिक गतिविधियों का केंद्र बनाने के लिए चुनाव लड़ना चाहता था, उस इच्छा को मैं हमेशा आगे बढ़ाऊंगा। चुनाव लडूं न लडूं, हरीश रावत रामनगर का था, रामनगर का है और आगे भी रामनगर का रहेगा। 

vijay sampla

Punjab Election: फगवाड़ा से विजय सांपला, बटाला से बाजवा, BJP ने जारी की 27 उम्मीदवारों की सूची

Amit Shah, UP Election 2022

बीजेपी चुनाव में है या मुग़लों से लड़ रही है? भड़के पूर्व IAS, शाह का नाम लेकर पूर्व IPS ने भी घेरा

dara singh chauhan

UP Election: बीजेपी छोड़कर आए दारा सिंह चौहान को घोसी से टिकट, सपा ने जारी 56 उम्मीदवारों की नई सूची

कल्याण सिंह की विरासत को आगे बढ़ा रहे नाती संदीप सिंह, योगी ने बनाया था मंत्री, जानें- 5 साल में कितनी बढ़ गई संपत्ति

कांग्रेस पार्टी ने यह फैसला इस सीट से पूर्व में प्रत्याशी व प्रदेश कार्यकारी अध्यक्ष रणजीत सिंह रावत के बगावती तेवर को देखते हुए लिया। पार्टी के द्वारा इस सीट से हरीश रावत को टिकट दिए जाने के बाद रणजीत रावत ने बगावती तेवर अपना लिया था। जिसके बाद पार्टी ने रामनगर सीट से हरीश रावत का टिकट वापस ले लिया। हालांकि रणजीत सिंह रावत को भी टिकट नहीं दिया गया। कांग्रेस ने इस सीट से महेंद्र पाल सिंह को उम्मीदवार बनाया है।

बुधवार को जारी लिस्ट में कुल पांच सीटों के उम्मीदवार बदले गए हैं। कांग्रेस ने कालाढूंगी से महेंद्र पाल सिंह की जगह महेश शर्मा को उम्मीदवार बनाया है। वहीं ज्वालापुर से बरखा रानी की जगह रवि बहादुर को टिकट दिया गया है और दोईवाला से मोहित उनियाल की जगह गौरव चौधरी को उम्मीदवार बनाया गया है। इस सूची में हरीश रावत की बेटी अनुपमा रावत को भी हरिद्वार ग्रामीण से टिकट दिया गया है।