WhatsApp ने दिल्ली हाईकोर्ट से कहा, व्हाट्सएप की नई पॉलिसी स्वीकार करने के लिए कोई बाध्य नहीं

व्हाट्सएप ने अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर जवाब दिया है और बताया है कि व्हाट्सएप यूजर्स को नई प्राइवेसी पॉलिसी मानने के लिए बाध्य नहीं किया गया है। वह व्हाट्सएप इस्तेमाल करना चाहे या फिर इसे कभी भी डिलीट कर सकते हैं।

Whatsapp news, Whatsapp new policy, Whatsapp update

व्हाट्सएप की नई प्राइवेसी पॉलिसी 2021 स्वीकार करने की आज आखिरी तारीख है लेकिन उससे पहले व्हाट्सएप ने दिल्ली हाई कोर्ट में कहा कि मैसेजिंग ऐप को इस्तेमाल करना है यूजर्स की इच्छा है और वह जब चाहें इसे बंद या डिलीट कर सकता है।

व्हा्टसएप प्राइवेसी पॉलिसी 2021 को स्वीकार करना अनिवार्य नहीं है, न ही किसी यूजर्स पर पॉलिसी अपनाने के लिए दबाव डाला जा रहा है। 15 मई यानी आज व्हाट्सएप पॉलिसी को स्वीकार करने की आज आखिरी तारीख है। अगर आज यूजर्स पॉलिसी को स्वीकार नहीं करते हैं तो उनका अकाउंट बंद नहीं किया जाएगा लेकिन उन्हें कुछ फीचर्स को इस्तेमाल करने का मौका नहीं मिलेगा।

WhatsApp द्वारा दी गई याचिका में कहा था कि इंडस्ट्री के अधिकतर ऐप लगभग इस पॉलिसी का पालन करती हैं। प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर दाखिल की याचिका पर व्हाट्सएप ने कहा है कि तमाम इंटरनेट आधारित एप की वही पॉलिसी है जो हमारी है। बिग बास्केट, कू, ओला ट्रूकॉलर, जोमैटो और आरोग्य सेतु एप भी यूजर्स का डाटा लेते हैं।

WhatsApp ने दायर एफिडेविट में कहा कि कई इंटरनेट बेस्ड ऐप और वेबसाइट भी उन्हीं की तरह डाटा को इकट्ठा करती हैं और व्हाट्सएप की प्राइवेसी पॉलिसी 2021 उन्हीं के समान हैं। WhatsApp ने अपने एफिडेविट में यह भी बताया है कि अगर उसे अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी लागू करने की मंजूरी नहीं है तो इससे देश में टेक कंपनियों का संचालन बाधित होगा, क्योंकि बहुत से किराना स्टोर सामान डिलीवरी आदि में व्हाट्सएप का उपयोग कर रहे हैं।

Whatsapp ने अपने FAQ पेज पर जानकारी दी है कि अगर कोई नई प्राइवेसी पॉलिसी को नहीं स्वीकार करता है तो उस यूजर का अकाउंट डिलीट नहीं किया जाएगा। इसके बाद वह WhatsApp के सीमित फीचर्स का उपयोग कर पाएंगे। WhatsApp कुछ सप्ताह बाद अपने जरूरी फीचर्स को इस्तेमाल करने से रोक देगा।

व्हाट्सएप के नहीं मिलेंगे ये फीचर्स

Whatsapp की नई प्राइवेसी पॉलिसी नहीं स्वीकारने पर WhatsApp चैट लिस्ट का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। अंत में उनके एप पर आने वाले फोन कॉल या वीडियो कॉल का जवाब देने की सुविधा के इस्तेमाल पर रोक लग जाएगी। नई प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर व्हाट्सएप ने कहा है कि यह सिर्फ बिजनेस अकाउंट के लिए है। सिर्फ बिजनेस अकाउंट से होने वाली चैटिंग को व्हाट्सएप पढ़ेगा और पैरेंट कंपनी फेसबुक के साथ साझा करेगा। नई पॉलिसी का निजी चैट से कोई लेना-देना नहीं है। यदि आप पॉलिसी स्वीकार नहीं करना चाहते हैं तो 15 मई से पहले, आप Android या iPhone पर अपनी पुरानी चैट्स एक्सपोर्ट कर सकते हैं।